Airbag kya hai? | एयरबैग क्या है? | Airbag kaise kam karta hai?

0
92
Airbag kya hai

आजकल हर किसी को गाड़ी चाहिए। मिडल क्लास फैमिली के पास भी अपनी एक गाड़ी आ गई है। जाहिर सी बात है गाड़ियों की संख्या बढ़ने की वजह से एक्सीडेंट भी ज्यादा होंगे! दुर्घटना होना तो हमारे हाथ में नहीं है, मगर सावधानी रखना तो हमारे हाथ में है ही!! आजकल की गाड़ी बनाने वाली कंपनियां कार में सुरक्षा का काफी ध्यान रखती है। इसलिए गाड़ी की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ज्यादातर गाड़ियों में एयरबैग आने लगे हैं। अब आप सोच रहे होंगे की Airbag kya hai (एयरबैग क्या है) Airbag kaise kam karta hai क्या आपको एयरबैग के बारे में नही पता है तो चलिए आज हम इसी के बारे में बात करेंगे।

एयरबैग क्या है? Airbag kya hai

सबसे पहेले आपको बताते है की Airbag kya hai कल्पना करिए, आप अपने गाड़ी में सफर कर रहे हो और अचानक है दुर्घटना होने से ठीक 0.3 सेकंड पहले आपकी सीट के आसपास बलून (balloon) जैसे कुछ फूल जाए और दुर्घटना से होने वाली जोरदार झटके से आपको बचा ले तो कितना अच्छा है। आप अपने संभावित मौत को टाल देंगे। एयरबैग भी यही काम करता है

MOST READ:- सैकड़ों सालों से 9 डिग्री पर झुका यह रत्नेश्वर महादेव मंदिर जो बेहद रहस्यमय है!!

Airbag एक तरह का Air balloon (हवा का गुब्बारा) होता है जो cotton का बना होता है। यह गाड़ी में बैठे यात्रियों की सुरक्षा के लिए होता है एयरबैग गाड़ी में स्टीयरिंग व्हील दरवाजे और देश बोर्ड पर लगाए गए होते हैं।जो दुर्घटना होने से ठीक पहले खुल जाता है। यात्रियों की जान बचा लेता है। एयरबैग को खुलने में 1 सेकेंड से भी कम समय लगता है। आपको बता दूं कि भारत सरकार ने सभी कारों में फ्रंट साइड पर एयरबैग लगाना अनिवार्य कर दिया है।एयरबैग कैसे काम करता है?

Airbag kaise kam karta hai

एयरबैग दुर्घटना से ठीक पहले खुल जाता है इसे खोलने में 0.3 सेकंड का समय लगता है। आप समझ लीजिए की Airbag के खुलने की रफ्तार 320 किलोमीटर प्रति घंटा होती है। एयरबैग समय पर खुले इसमें सेंसर बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। दुर्घटना की स्थिति में यह सेंसर एक्टिवेट हो जाता है। वह एयरबैग को सिग्नल भेजता है और सिग्नल मिलते ही एयरबैग खुल जाता है। Airbag में हवा भरने के लिए किसी भी तरह का सिलेंडर का उपयोग नहीं होता बल्कि रासायनिक प्रक्रिया के द्वारा यह काम होता है।

एयरबैग में कौन सी गैस भरी होती है

एयरबैग में नाइट्रोजन गैस भरी होती है।

गाड़ी में एयरबैग कहां कहां लगा होता है?

गाड़ी में एयरबैग कई जगह लगाया जाता है यह कार के डैशबोर्ड, दरवाजे, स्टेरिंग व्हील, आदि के पास लगाया जाता है।

एयरबैग किसका बना होता है?

एयरबैग कॉटन (cotton) का बना होता है जिस पर सिलिकॉन (silicon) की परत (coating) चढ़ी होती है।

एयरबैग और सीट बेल्ट का आपस में क्या संबंध है!!

एयरबैग तभी काम करता है जब आप सीट बेल्ट पहने हुए हैं। क्योंकि यह दोनों आपस में सेंसर से जुड़े हुए होते हैं। अगर आपने सीट बेल्ट नहीं पहना है तो दुर्घटना के समय एयरबैग भी काम नहीं करेगा। इसके लिए मेरी आपसे विनती है कि आप हमेशा सीट बेल्ट लगाकर ही यात्रा करें।

MOST READ:- 5000 साल पुरानी है चाय जानिए इसका इतिहास!!

एयरबैग वाली गाड़ियों में यह सावधानिया जरूर रखें।

  • जैसा कि मैंने आपको ऊपर बताया कि Airbag ठीक से काम करें इसके लिए आपको सीट बेल्ट पहनना जरूरी है।
  • गाड़ी के स्टीयरिंग से थोड़ा दूर बैठना चाहिए क्योंकि एयरबैग को पर्याप्त जगह की जरूरत होती है जिससे वह दुर्घटना के समय आसानी से खुल सके।
  • गाड़ी के डैशबोर्ड पर किसी भी तरह का सजावट का कोई भी सामान ना रखें।
  • सीट कवर लगाते समय यह ध्यान रखें कि एयरबैग ढाका ना जाए क्योंकि कुछ गाड़ियों में Airbag सीट के बराबर में ही होता है।
  • डैशबोर्ड पर पैर कभी ना रखें क्योंकि दुर्घटना के समय एयरबैग के खुलने से आपके पैरों को गंभीर चोट लग सकती है और दूसरी संभावना यह भी हो सकती है कि एयरबैग ना खुले!
  • तो यहां मैंने आपको बताया कि गाड़ी चलाते समय कौन सी सावधानियां रखे हैं जिससे Airbag अपना काम आसानी से कर पाए और आपकी जान बचा जाये।

कितनी सुरक्षित है एयरबैग?

एयरबैग के बारे में इतना सब कुछ जानने के बाद आपके मन में सवाल होता होगा कि क्या सच में एयरबैग इतना ज्यादा सुरक्षित है? जी हां, Airbag सुरक्षित होता है कई ऐसे रिसर्च में सामने आया है कि एयरबैग के जरिए दुर्घटनाओं में होने वाली मौत काफी हद तक कम हो जाती है। आमतौर पर ऐसा देखा जाता है कि दुर्घटना के समय फ्रंट सीट पर बैठा हुआ व्यक्ति और ड्राइवर की मौत ज्यादा होती है। जो एयरबैग की वजह से काफी कम हो गई है। अब तो भारत सरकार ने भी सभी गाड़ियों में Airbag लगाना अनिवार्य कर दिया है। चाहे वह गाड़ी कितनी भी सस्ती क्यों ना हो!

आखिरी शब्द

इस पोस्ट में हमने जाना कि एयरबैग क्या होता है? एयरबैग कैसे काम करता है? Airbag गाड़ी में कहां कहां लगा होता है? एयरबैग ठीक से काम करें इसके लिए क्या सावधानी रखनी चाहिए एयरबैग के फायदे नुकसान सबकुछ एयरबैग के बारे में हमने जान लिया। मुझे आशा है कि यह पोस्ट पढ़ने के बाद आपको Airbag विषय में जानने के लिए और कहीं जाने की जरूरत नहीं होगी।

मेरे विचार

मैं व्यक्तिगत रूप से यह मानता हूं कि ज्यादातर एक्सीडेंट ट्रैफिक नियमों को ना मानने की वजह से ही होता है। इसलिए मेरा निवेदन है कि आप ट्रैफिक नियमों का पालन करें। गाड़ी में सेफ्टी फीचर दूसरा विकल्प है भले ही यह काफी अच्छा है मगर आप अपनी पहली कोशिश यह रखिए की एक्सीडेंट ही ना हो।

अगर यह पोस्ट आपको पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और ऐसी अद्भुत जानकारी आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here